scientist kaise bane

ISRO जो भारत की सबसे बडी Space Organization है उसमे हम Space Scientist kaise bane. ISRO जिसका पूरा नाम 'Indian Space Research Organisation' है ऐसे बहुत से सवाल है जो 10th or 12th के बच्चों के मन में उठते रहते हैं और वे समझ नहीं पाते कि वे 12th के बाद क्या करें और साइंटिस्ट कैसे बने। बता दें कि विज्ञान विषय के होनहार छात्र साइंटिस्ट बन कर अपना और अपने देश का गौरव बढ़ा सकते हैं।

आज हम 'Isro Scientist Kaise Bane' उसके बारे में पूरी जानकारी आपको बताने वाले हैं यह पूरी पोस्ट पढ़ने के बाद आपको सब कुछ पता चल जाएगा की साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करेंऔर किस किस चीज की जरूरत है आप कहां परीक्षा देनी है कहां एडमिशन लेना है यह सब कुछ आपको आज इस पोस्ट में पता चल जाएगा तो पूरी पोस्ट पढ़िए और जानकारी प्राप्त करें।

अगर आपके जिंदगी का मकसद केवल ISRO SCIENTIST ही बनना है और आपने 12वीं परीक्षा पास की है तो आपके पास पर्याप्त समय है साइंटिस्ट बनने के लिए 12वीं पास करने के बाद आप Entrence test की तैयारी करते रहे ISRO में जाने के लिए आपका 12वीं PCM (Physics Chemistry Maths) से और Graduation 65% अंकों के साथ पास करना जरूरी है तो आइए सबसे पहले जानते हैं कि साइंटिस्ट के क्या काम है और कितने प्रकार के होते हैं उसके बाद हम बात करेंगे कि इसरो साइंटिस्ट कैसे बने।

SPACE SCIENTIST'S WORK - अंतरिक्ष वैज्ञानिक के काम

अंतरिक्ष क्षेत्र के वैज्ञानिक सवाल पूछते हैं उन पर Research करते हैं और विज्ञान का उपयोग यह समझने के लिए करते हैं कि हमारे ब्रह्मांड में चीजें कैसे और क्यों हो रही है उनके पीछे का क्या कारण है और हमारे ग्रहों पर इसका क्या असर पड़ेगा।

उनका लक्ष्य ज्ञान को आगे बढ़ाना है ताकि इसे कई क्षेत्रों में Technology Development में लागू किया जा सके। अंतरिक्ष क्षेत्र में वैज्ञानिक के कार्य में निम्नलिखित शामिल हो सकते है।

  1. अंतरिक्ष संबंधी सवाल जवाब करना
  2. अंतरिक्ष से संबंधित Data इकट्ठा करना।
  3. इकट्ठे किए गए Data पर Research करना
  4. Research करके Theory तैयार करना और Advance Knowledge प्राप्त करना।
  5. Advanced knowledge को अपने Technology Development में लागू करना

अब आपको पता चल ही गया होगा कि साइंटिस्ट के क्या काम होते हैं अब बात करते हैं Space Scientists की कितनी श्रेणियां (Categories) होती हैं।

CATEGORIES OF SPACE SCIENTIST - अन्तरिक्ष वैज्ञानिक की श्रेणियां

अंतरिक्ष क्षेत्र में वैज्ञानिको से संबधित 3 तरह की श्रेणियाँ होती है वो हैं अंतरिक्ष,ग्रह और जीवन। अगर आप Space Scientistबनना चाहते है तो इन 3 श्रेणियों में से आप अपनी रूचि अनुसार करियर चुन सकते हैं। निचे कुछ प्रश्नो पर नजर डालें और आप देखे की आपकी रूचि किन प्रश्नो पर अधिक आकर्षित होती है ताकि आपको अपना करियर चुनने में आसानी हो।

SPACE (अंतरिक्ष)

इस क्षेत्र में वैज्ञानिको का काम अंतरिक्ष में हो रही गतिविधियों पर नजर रखने और उन पर रिसर्च करने का होता है। जैसे ब्लैक होल क्या है कैसे बनता है, डार्क मैटर क्या है, गुरुत्वाकर्षण तरंगे कैसे व्यवहार करती है आदि।

इस क्षेत्र में खगोल विज्ञानं (astronomy), खगोल भौतिकी (astrophysics) और भौतिकी (physics) से सम्बधित Subjects में Intrest होना जरुरी है।

PLANATS (ग्रह )

इस क्षेत्र में Scientist ग्रहो के बारे में Research करते है। ग्रहो पर हो रही गतिविधियों पर नजर रखना और वे क्यों हो रही है। Research करके पता करना उनका काम होता है जैसे: पृथ्वी जैसे और कितने ग्रह है, प्रदूषण का पृथ्वी पर क्या प्रभाव पड़ता है , एक निश्चित ग्रह का वातावरण कैसा है उस ग्रह पर कितने प्रकार की गैसें है आदि।

इस क्षेत्र में मुख्यत वायुमंडलीय विज्ञान (atmospheric science), भूविज्ञान (geology), मौसम विज्ञान (Meteorology) से संबधित Subjects मिलते हैं। ।

LIFE (जीवन )

इस क्षेत्र में Scientist अन्तरिक्ष में विभिन्न ग्रहों पर Research करके ये पता लगाने की कोशिश करते हैं की ग्रह पर जीवन हे भी या नहीं, पानी है या नहीं, क्या जीवन के निर्माण खंड इन ग्रहो पर मोजूद है, अन्तरिक्ष मानव शरीर को कैसे प्रभावित करता है और क्या हम मंगल जैसे ग्रह पर पौधे ऊगा सकते हैं।

इस क्षेत्र में जीव विज्ञानं (the biology), चिकित्सा (Treatment), पोषण (Nutrition) से संबधित Subjects आते हैं

ये तीनो सभी श्रेणियाँ अक्सर एक दूसरे के साथ Overlap होती है। उदाहरण के लिए एस्ट्रोबिओलॉजिस्ट ब्रह्माण्ड में जीवन की संभावना पर शोध करते हैं, उनका काम तीनो श्रेणियों में आता है।

ELIGIBILITY OF SCIENTIST - वैज्ञानिक की योग्यता 

साइंटिस्ट बनने के लिए कोई विशेष Course नहीं करना होता है। इसरो साइंटिस्ट कैसे बने उसके लिए आपको दसवीं के बाद Physics, Chemistry और Maths इंग्लिश विषयों के साथ 12वीं करना होता है। इसके बाद भी उन्हीं विषयों में उच्च शिक्षा जहां से Graduation और Post Graduation जैसे MSc, PHd, Engineering आदि 65% अंकों के साथ पास होना जरूरी है उसके बाद समय-समय पर निकलने वाली Scientists Vacancies के लिए Application दे सकते हैं।

लगभग हर साल जनवरी माह में Vacancies निकलती है अधिक जानकारी के लिए आप इसरो की Website ISRO CAREERSपर क्लिक करके देख सकते हैं। साइंटिस्ट बनने के लिए कई उम्र की सीमा नहीं होती है। आप किसी भी उम्र में आवेदन कर सकते हैं। आप किसी और Department में रहते हुए भी अपनी Research आदि को जारी रखते हुए अपनी मंजिल तक पहुंच सकते हैं। वैज्ञानिक विभिन्न क्षेत्रों में बना जा सकता है जैसे Meteorologist, Archaeologist, Oceanographer, Space Scientist, Computer Scientist इत्यादि।

चलिए अब बात करते हैं कि ISRO Scientists कैसे बने? उसके लिए कौन सा Exam और कौन से College में Admission लेना पड़ेगा।

ISRO SCIENTIST KAISE BANE

भारत में कुल मिलाकर 40 से ज्यादा ISRO CENTERS हैं आप इसरो की वेबसाइट ISRO CENTERS पर क्लिक करके सारे Centers की जानकारी ले सकते हैं। इसरो साइंटिस्ट बनने के लिए आपको कड़ी प्रतिस्पर्धा से गुजरना पड़ता है और 3 तरीकों से Isro Scientists बन सकते हैं। नीचे दिए 3 तरीको में से कोई भी तरीका आपको सही लगे वो रास्ता आप चुन सकते हैं।

isro scientist kaise bane

IIST (Indian institute of space technology)

ISRO के वैज्ञानिक बनने के लिए आपको IIST (Indian Institute Of Space Technology) में एडमिशन लेना होता है। इस इंस्टीट्यूट में ऐडमिशन हो जाने पर इसरो उन स्टूडेंट्स को Directly साइंटिस्ट के Post पर Recruitment कर लेता है।

IIST में एडमिशन लेने के लिए जिन स्टूडेंट्स ने 12TH Maths और Science से पास की है उन्हें JEE (Joint Entrance Exam) देना होता है। Exam में Multiple Choice के Questions होते हैं इसमें हर Subject के 2 Section होते हैं टेस्ट में कम से कम 60% अंक लाना जरूरी होता है और इसमें अच्छी Rank के अनुसार आपको IIST में Addmission मिलता है।

IIST में एडमिशन मिल जाने के बाद आप या तो 4 साल की BTech कर लेते हैं यां फिर 5 साल का एक Dual Degree Program होता है इस डिग्री में आपको 7.5 CGPA मेंटेन करना होता है और उसके बाद Isro के पास जो Vacancies होती है उसमें वह आपको Post दे देते हैं। लगभग जितने भी IIST स्टूडेंट्स होते हैं में उन्हें Isro में Recruitment मिल जाता है। एडमिशन लेने की पूरी जानकारी आपको IIST की वेबसाइटWWW.IIST.AC.IN पर मिल जाएगी।

DIRECT ISRO INTERVIEW

अगर आप भारत के Top Institutes जैसे IIT या NIT में पढ़ते हैं तो आपको Scientists बनने का सुनहरा अवसर मिल सकता है क्योंकि ISRO हर वर्ष Scientists के पद के लिए देश के Top Institute जैसे IIT और NIT में Geniuses को चुनता है और वहां पर जो अच्छे Candidates होते हैं उनका Interview लेकर उन्हें Recruit करती है अगर आप में साइंटिस्ट बनने की रुचि है तो आप सीधे सीधे ISRO को Interview देकर साइंटिस्ट बन सकते हैं।

ISRO EXAM

ISRO हर साल एक एग्जाम आयोजित करता है जिसे ICRB (Isro Center Light Recruitment Board) Exam कहते हैं यह Exam तीन Categories में कराया जाता है जिसमे Electronic, Mechanical और Computer होते हैं। आप Bechelor Of Engineering, Bachelor Of Science या Bachelor Of Technology करने के बाद यह Exam दे सकते हैं।

यह एग्जाम सभी Students नहीं दे सकते। ऐसे में Students को 10th से लेकर उसके बाद तक की पढ़ाई में कम से कम 65% तक अंक अर्जित करते रहना होता है यदि आपके कॉलेज में CGPA का सिस्टम है तो 6.84 CGPA आप को मेंटेन करना होते हैं। जिन्होंने अपनी Graduation पास कर लिया है वही Students इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। Final Year में पढ़ रहे Students इसके लिए Apply नहीं कर सकते।

SALARY OF SCIENTIST - साइंटिस्ट का वेतन

Space Organization Isro में सैलरी बहुत अच्छी होती है। जैसा की ये govt job है तो सरकार की तरफ से भी काफी Allowence और Facilities मिलती हैं। साइंटिस्ट को सैलरी उनकी पोस्ट और काम के अनुसार अलग-अलग होती है। Fresher Students को 25000 रुपये तक स्टार्टिंग में मिल जाते है। Post Work Experience बढ़ने के साथ-साथ यह 150000 रुपए तक जा सकती है। सैलरी के अतिरिक्त उन्हें House Transport की सुविधा भी दी जाती है मेडिकल की सुविधा कर्मचारी और उसके पूरे परिवार को प्रदान की जाती है।

QUALITIES TO BE SCIENTIST - वैज्ञानिक में होने चाहिए ये गुण

किसी भी क्षेत्र में वैज्ञानिक बनने के लिए आपमें अंदर बचपन से ही कुछ खास गुणों का होना आवश्यक है। इन्ही विशेषताओं और गुणों के आधार पर ही आप भविष्य में कुशल वैज्ञानिक बन सकते है। अगर आपने साइंटिस्ट बनने का पूरा मन बना लिया है तो आप किसी की भी बातो में न आयें और अपना साइंटिस्ट बनने का इरादा पक्का रखेऔर निचे बताये गए गुणों को अपने जीवन में लाये। आइये जानते हैं कुछ खास गुण

कारण खोजने में रुचि

दिन भर आप अपने इर्द-गिर्द बहुत सारे उपकरण मशीनरी और इलेक्ट्रॉनिक का सामान देखते होंगे उनमें से मान लीजिए एक टीवी है वह क्यों चल रहा है उसमें लाइट कैसे आ रही है उसके पीछे क्या कारण है उसका पता लगाने की कोशिश करें हो सकता है आप इसका पता लगाते लगाते कुछ और जानकारी पता कर ले जो अब तक किसी ने ना की हो इसलिए एक वैज्ञानिक में कारण खोजते रहने की रुचि वह जरूरी होती है।

इनोवेटिव और लॉजिकल थिंकिंग

वैज्ञानिक बनने के लिए आपने किसी भी चीज या उपकरण मैं कुछ नया करके उसमें इन्नोवेशन मतलब बदलने की और उसके पीछे के लॉजिक ढूंढने की क्षमता जरूर होनी चाहिए इन दोनों के माध्यम से ही आप अपने वैज्ञानिक बनने के सपने को साकार कर सकते हैं उदाहरण के लिए मोबाइल आज से 20 साल पहले एक कॉलिंग डिवाइस था परंतु अब उस पर रिसर्च करके और इनोवेशन करके उसे स्मार्टफोन बना दिया गया है आज आप अपने मोबाइल से कुछ भी कर सकते हैं इसी को ही इनोवेशन कहते हैं।

धैर्य

एक साइंटिस्ट में सबसे बड़ा गुण धैर्य का होना चाहिए किसी भी प्रकार की रिसर्च या खोजबीन करते समय अगर आपने जल्दबाजी या लापरवाही की या फिर देहरा नहीं रखा तो आपको उसके परिणाम उल्टे मिल सकते हैं आप अपनी खोजबीन की तह तक नहीं जा सकते इसलिए वैज्ञानिक का सबसे बड़ा गुण धैर्य का ही होता है।

रिस्क लेने की क्षमता

एक वैज्ञानिक की नौकरी में कदम कदम पर रिस्क होते हैं उनके द्वारा उठाया गया कोई भी गलत कदम उनकी सारी योजनाओं को विफल कर सकता है इसलिए रिस्क लेने की क्षमता एक वैज्ञानिक ने जरूर होनी चाहिए।

संचार कौशल

साइंटिस्ट का बोलने का ढंग अच्छा होना चाहिए ताकि एक ही बारे में जिसे जो समझा रहे हैं उसे वह जल्दी समझ आ जाए उसे कभी तो गुस्से से नहीं बोलना चाहिए सभी से नीरस और सहज स्वभाव से भी बात करनी चाहिए।

अन्य भाषाएं सीखना

मातृभाषा के अलावा एक वैज्ञानिक को अन्य भाषाओं का भी ज्ञान होना जरूरी है ताकि दूसरे देशों या दूसरे वैज्ञानिकों के विचारों के बारे में जानकारी प्राप्त करने में कठिनाई नहीं हो साथ ही किसी अन्य देश की तकनीक को समझने में भी आसानी हो।

अधिक जानकारी

विश्व में बहुत से ऐसे वैज्ञानिक हुए हैं जिन्होंने अपने ज्ञान और बुद्धि से बहुत से ऐसे अविष्कार किए हैं जिससे दुनिया को बहुत लाभ हुआ है आप अपने देश विदेश के महान वैज्ञानिकों की रिसर्च एवं उनकी जीवनी पढ़ें उससे आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में काफी मदद मिलेगी।

COLLEGES - प्रमुख संसथान

पूरी पोस्ट पड़ने के बाद आपको पता चल ही गया होगा की Isro में Scientist कैसे बन सकते है। IIST में एडमिशन लेकर आप आसानी से साइंटिस्ट बन सकते है उसके इलावा India में किसी भी कॉलेज से Graduation और Post-Graduation करके भी आप इसरो में अपना भविष्य बना सकते है। लेकिन फिर बह हम आपको कुछ ऐसे कॉलेजेस के नाम बताने जा रहे है जो साइंटिस्ट बनने में आपकी मदद कर सकते है

College Location Website
Indian Institute Of Space Technology Delhi iist.ac.in
Jawahar Lal Nehru University Delhi jnu.ac.in
Miranda House,University of delhi Delhi mirandahouse.ac.in
MCC - Madras Christian College chennai mcc.edu.in
SJC Bangalore - St. Joseph's College Bangalor sjc.ac.in
Mithibai College mumbai mithibai.ac.in
banaras hindu university Varanasi bhu.ac.in
Pondicherry University punducherry pondiuni.edu.in
D.A.V College chandigarh davchd.ac.in
Amity University Noida amity.edu
M.G. Science Institute Ahemedabad mgscience.ac.in