cyber security expert kaise bane

cyber security expert kaise bane :- जिन लोगो को computer में अधिक रुचि है उनमें साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट कैसे बने की मांग बढ़ती जा रही है। हमारे देश में cyber crime का नेटवर्क काम कर रहा है,जो लोगो से उनके बैंक खातों ,क्रेडिट कार्ड और दूसरी वित्तिय जानकारी हासिल करके उनकी बरसों की कमाई को लूट ले जाते हैं
स्मार्टफोन और इंटरनेट पर निर्भरता बढ़ने से हैकर्स आये दिन इस तरह का नुकसान पहुंचा रहे हैं। इसी के चलते सभी कंपनियों के आईटी विभाग में एथिकल हैकर्स और "cyber security expert" की भारी जरूरत देखी जा रही है। 
पिछले 3 सालों में 1.5 लाख के करीब cyber attack की घटनाएं सामने आयी हैं जैसे क्रेडिट कार्ड का क्लोन बना कर लोगो के बैंक अकाउंट से पैसा गायब करना। बैंको और लोगो को cyber attack का शिकार बनाने के इलावा सिम स्वापिंग (डुप्लीकेट सिम) की घटना भी सामने आने लगी है।
इसीलिए जो लोग कंप्यूटर में इंटरेस्ट रखते है और इस ट्रेंड को समझते हुए आगे बढ़ना चाहते है तो तो उनके लिए "cyber security" में बेहतरीन मौका है। आज हम साइबर एक्सपर्ट कैसे बने और उसके लिए क्या क्या जरूरी योग्यता और शिक्षा चाहिए के बारे में बात करेंगे।

Hacking क्या है ? कैसे होती है Hacking ? ( what is hacking?)

Hacking एक प्रकार की डिजिटल चोरी है। Hackers कंप्यूटर के माध्यम से कुछ ऐसे सॉफ्टवेर और वायरस बनाते है जो बिना सिक्योरिटी वाले कंप्यूटर में आसानी से इंटरनेट के माध्यम से पहुंचा देते है और जिस कंप्यूटर या मोबाइल में ये वायरस पहुंच जाता है तो उस मोबाइल यूजर या कंप्यूटर मालिक की सारी जानकारी hackers को मिलती रहती है जैसे एटीएम कार्ड की पिन या बैंक का पासवर्ड आदि और फिर वे आपके बैंक या आपके पैसे के साथ कुछ भी कर सकते हैं।

Hackers किसी दूसरे कंप्यूटर यूज़र्स के डाटा सिक्योरिटी में बिना उसकी जानकारी के सेंध लगाकर नुकसान पहुंचाते हैं। अगर आसान शब्दों में कहे,तो hacking के अंतर्गत किसी कंप्यूटर या इंटरनेट यूजर के महत्वपूर्ण निजी डाटा और जानकारियों की चोरी करके धोखाधड़ी की जाती है यानि बगैर इजाजत के गैर-कानूनी तरीके से कंप्यूटर और नेटवर्क में घुसपैठ करना हैकिंग कहलाता है। और ऐसा करने वाले को "black head hackers" कहा जाता है।


कितने तरह के हैकर्स (How many types of hackers?)

1.white head hackers :- ये अच्छे हैकर्स हैंं । जो की "computer expert" होते हैं और जिनकी मुख्य जिम्मेदारी अपनी कम्पनी या क्लाएंट्स के लिए उनके इनफार्मेशन और डाटापूल को सुरक्षित रखना होता है। इसलिए ये एथिकल हैकर कहलाते हैं।


2. black head hacker :- ये हैकर्स साइबर क्रिमिनल्स होते हैं जो की अपने प्रोफेसनल टैलेंट से किसी दूसरे कंप्यूटर नेटवर्क में सेंध लगाकर महत्वपूर्ण डाटा और प्राइवेट इनफार्मेशन को गैर क़ानूनी रूप से चोरी कर लेते है।
ये हैकर्स कम्प्यूटर्र वायरस भी बनाते हैं। जिसके कारण महत्वपुर्ण डाटा नष्ट भी हो सकता है। ऐसे लोग Crackers या Script kids भी कहलाते हैं।


साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट कैसे बने की पूरी जानकारी (Cyber security expert kaise bane)

अगर आप कम्प्यूटर को अच्छी तरह से जानते है और सोच रहे है की साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट कैसे बने (Cyber security expert kaise bane) तो उसके पहले आपको साइबर एक्सपर्ट की जॉब के बारे में पूरा ज्ञान होना जरुरी है की साइबर एक्सपर्ट का क्या  काम है और उसकी क्या जिम्मेदरिया होती है, साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट कैसे बने उसके लिए आपकी शैक्षिक योग्यता है या नहीं, कितने प्रकार के साइबर एक्सपर्ट होते है। इन सब बातो का पता होना आवश्यक है तो चलिए जानते है वो सभी बातें जो साइबर एक्सपर्ट बनने के लिए जरुरी हैं।


साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट के प्रकार (Types of cyber security experts)

डाटा की सुरक्षा के लिए किसी भी कंपनी या संगठन में Cyber security specialist अलग अलग तरह के होते है मतलब उनका ज्ञान समान ही होता है पर कार्य अलग अलग होते हैं जैसे कमजोरियों को जांचना, किसी भी बात का उल्लंघन न हो इसलिए सिस्टम और नेटवर्क की निगरानी रखना, और अगर कोई समस्या पाई जाती हैं तो उसको ठीक करना और फिर उन क्षेत्रों को मजबूत करना जहाँ से हैकर्स का अटैक हो सकता है।
साइबर एक्सपर्ट 3 तरह के होते हैं जो अलग अलग तरीकों से अपने कार्य का अनुभव रखते हैं

एथिकल हैकर्स (Ethical hackers)

Ethical hackers के पास मान्यता प्राप्त शिक्षा का सर्टिफिकेट होता है जिसे ceh certificate कहते हैं। इस के अंतर्गत उन्हें नियोक्ताओं द्वारा अपने सिस्टम की सुरक्षा को आजमाने और भेदने के लिए लाइसेंस दिया जाता है। Ethical hackers वो सभी प्रशिक्षण और तकनिकी ज्ञान का प्रयोग मौजूदा सुरक्षा प्रोटोकॉल के परीक्षण करने के लिए करते है जो ब्लैक हेड हैकर्स के पास होते हैं। अपनी कार्यक्षमता और ज्ञान के आधार पर उनके कार्य करने का पद बढ़ता रहता है।

साइबर सुचना सुरक्षा विश्लेषक (Cyber Information Security Analyst)

साइबर सुचना सुरक्षा विश्लेषक का कार्य किसी भी संगठन में सबसे पहले आता है।  इसका कार्य किसी भी संगठन सुरक्षा जोखिमो की तलाश करना और उनको समझना है. वे जोखिमो और उल्लंघनो से बचने के लिए सुचना कोड और काफी सारे Encryption लगाते हैं. कोई भी असमान्य स्थिति के लिए सिस्टम की लगातार निगरानी और ओडिट करते रहते हैं. वे तकनिकी रिपोर्टों में अपने निष्कर्षो का विस्तार करते हैं.

कंप्यूटर फॉरेंसिक विश्लेषक (Computer forensic analyst)

फॉरेंसिक विश्लेषक सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्र के संगठनों में कानून प्रवर्तन एजेंसियों (Law enforcement agencies) के साथ काम करते हैं. और विभिन्न प्रकार के कार्यो के कहा जाता है. जिनमे शामिल हैं-
  • अपराधिक मामलो से जुड़े अन्क्क्दो को एकत्रित करके उनकी व्याख्या करना.
  • मोबाइल फ़ोन रिकॉर्ड का विश्लेषण करना
  • डेटा ट्रेल्स पीछा करना 
  • हटाई गई फाइल्स पुनः प्राप्त करना
 Computer forensic analyst को अपनी जाँच की अत्यधिक विस्तृत रिकॉर्ड रखने की आवश्यकता होती है. और अक्सर अदालत में सबूत पेश करने होते हैं.

cyber expert kaise bane

साइबर एक्सपर्ट की जिम्मेदारियां 

Cyber expert की कुछ महेत्व्पूर्ण जिम्मेदारियां भी होती है जो उन्हें अपने काम करते वक्त निभानी पड़ती हैं.
वो कुछ इस प्रकार हैं.
  • साइबर हमलों और घुसपैठ के लिए लगातार निगरानी रखना ताकि कोई डेटा चोरी न हो
  • अपराधी की पहचान करना और उसकी सुचना कानून प्रवर्तन एजेंसिओ को देना
  • किसी संगठन के नेटवर्क की भेदन क्षमता को मजबूत करना ताकि कोई उसकी सुरक्षा को भेद न सके
  • नेटवर्क इन्फ्रास्ट्रक्चर में फ़ायरवॉल का निर्माण करना ताकि कोई भी हमला हो तो तुरंत पता चल सके.
  • किसी संगठन की आईटी स्ट्रक्चर को सुरक्षित करने का सबसे अच्छे तरीके खोजना
  • संगठन के हार्डवेयर और सॉफ्टवेर में कमिया ढूँढ कर उसको मजबूत करना
 ये भी पढ़ें :- Social media का अधिक प्रयोग बन सकता है "FOMO" का कारण

Cyber security expert में होनी चाहिए ये विशेषताएँ

साइबर एक्सपर्ट बनने के लिए व्यक्ति में कुछ खास कोशल,योग्यता और खूबियों का होना अति आवश्यक है जिसके आधार पर ही वो अपने काम में सकुशल सफल हो सकता है.
  • सबसे बड़ी खूबी इस कार्य में ये है की व्यक्ति को दबाव में काम करने और समय सीमा के अन्दर कार्य को पूरा करने की क्षमता होनी चाहिए
  • जानकारियों को गुप्त रखने की योग्यता और इससे संबधित कानूनन की  समझ होनी अनिवार्य है.
  • आईटी सिस्टम को मजबूत करने की ताकत और कमजोरियों को पहचान करने की योग्यता का होना आवश्यक है
  • बात करने की समझ और लोगो के साथ समन्वय बना कर उनसे बात करने का तरीका आना चाहिये
  • आईटी में मजबूत रूचि और कोशल आधार, जिसमे हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और नेटवर्क का ज्ञान शामिल है
  • ये समझ जरुरी है की हकेर्स कैसे काम करते हैं और अपराधिक साइबर-अंडरवर्ल्ड में विकास को बनाये रखने की क्षमता
  • निर्णय लेने के लिए आत्मविश्वास के साथ एक positive दृष्टिकोण
  • रचनात्मक,धेर्यवान और जिज्ञासु स्वभाव का होना भी आवश्यक है

Cyber expert की शैक्षिक योग्यता

Cyber expert kaise bane उसके लिए गणित और भोतिकी में रूचि होनी चाहिए. कंप्यूटर में विशेष योग्यता होनी चाहिए. बाहरवीं के बाद कंप्यूटर विज्ञानं के साथ किसी भी क्षेत्र में स्नातक होना आवश्यक है. अधिकांश साइबर सुरक्षा एजेंसीस आईटी या कंप्यूटर विज्ञानं में विशेषज्ञों जो इन सभी विषयों में स्नातक है उन्ही को ज्यादा चुनती है. साइबर एक्सपर्ट बनने के लिए लागु होने वाली शिक्षा निम्नलिखित है
  • Networking engineering
  • Forensic computing
  • computer science
  • IT engineering
  • Graduation with math and physics

साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट को कहाँ मिलेगी जॉब्स (Cyber security expert ko kahan milegi jobs)

आईटी सिक्योरिटी सर्टिफिकेशन सेवा देने वाली कंपनियों और आईटी फर्म्स में बड़ी संख्या में साइबर सेक्युरिटी प्रोफेशनलस की मांग है। कोई भी संगठन जो डेटा और तकनीक का अधिक प्रयोग करती है उनकी साइबर एक्सपर्ट की मांग होती ही है। जैसे जैसे कंपनीज डिजिटल होती जा रही है उतना ही साइबर अटैक से बचने के लिए साइबर एक्सपर्ट की मांग में भी तेजी आई है। परिणाम स्वरूप आप किसी भी उद्योग में काम कर सकते हैं।जैसे कि
  • law firms bank
  • telecom compnies
  • police department
  • Ministry of Information and Broadcasting
  • Educational Institute
  • security consultency service
  • network provider
वहीं digital payment जैसी तकनीक को सुरक्षित करने के लिए भी कई सारी कंपनीज एथिकल हैकर्स की मदद ले रहीं हैं। कुुुछ वर्स्षन के बाद अपनी consultency service शुरू करके भी अच्छा पैसा कमाया जा सकता है।


Cyber Expert बनने के लिए कैसे बढ़ाएं अपनी योग्यता 

एक हैकर बनने के लिए कंप्यूटर का नॉलेज होना सबसे ज्यादा जरूरी होता है इसके लिए कंप्यूटर के कंपोनेंट्स से लेकर इसके कॉन्फ़िगरेशन ओर वर्किंग मेथड के बारे में जानना जरूरी होता है,क्योंकि कंप्यूटर के बेसिक्स के बारे में अच्छी समझ एक अच्छा हैकर बनने में काफी मदद करती है। सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का ब्रेन कहलाता है,क्योंकि यही कंप्यूटर के सभी functions को oprate करता है। सॉफ्टवेयर में बिना मास्टरी के कोई भी कंप्यूटर एक्सपर्ट नहीं बन सकता। तो जानते है अपनी स्किल्स बढ़ाने के तरीके।
  • Opreating System को समझे:- ओपराटिंग सिस्टम कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर होता है। यह कंप्यूटर और कंप्यूटर यूजर के मध्य connecter का काम।करता है। linux, windows और OSX system का प्रयोग विशेष रूप से हैकर्स ओर सिक्योरिटी प्रोफेशनल करते हैं। इन सिस्टम को समझे और जाने की ये कैसे काम करते है।

  • Programming Language सीखें:- आजकल कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बनाने के लिए काफी सारी programming languages का प्रयोग किया जाता है। इन language की जानकारी के बिना कोई भी साइबर एक्सपर्ट नहीं बन सकता। आजकल C, C++, XQL, Java, Javascript, C Language, Objective-C, PHP, Python जैसी महत्वपुर्ण प्रोग्रामिंग लैंग्वेज प्रचलन में है। आपको इस फील्ड में आने के लिए इन्हें अच्छी तरह से जानना काफी जरूरी है।

  • hacking websites:- आपको हैकिंग्स पर आधारित कई websites मिल जाएंगी जहां पर हैकिंग्स से जुड़ी काफी जानकारी और ट्रिक्स आपको मि जाएंगी। आप ऐसी वेबसाइट्स ढूंढे फिर उनसे कुछ न कुछ हमेशा सीखते रहे ताकि आप अपडेट राह सकें।

  • Networking सीखें:- कंप्यूटर नेटवर्किंग की अच्छी जानकारी भी बहुत उपयोगी है। नेटवर्किंग की फंक्शनिंग हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर पर आधारित होती है। हैकर्स बनने के लिए नेटवर्किंग का ज्ञान भी बहुत जरूरी है।

साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट के लिए प्रमुख संस्थान

Colege name Location Website
Institute Of Information Security Delhi, Pune, Chandigarh, Bengaluru, Hyderabaad www.iisecurity.in
Indian school Of Athical Hacking Kolkata www.isoeh.com
Certified Athical Hacking EC Counsil Bengaluru www.eccouncil.org
Indira Gandhi National
Open University (IGNOU)
Delhi

www.ignou.ac.in