premarital counselling benefits in hindi

क्या आप जल्द ही शादी करने की योजना बना रहे हैं तो Premarital counselling आपके लिए काफी लाभदायक साबित हो सकती है। शादी तय होते ही केवल लड़के और लड़की को ही खुशी नहीं होती बल्कि परिवार वालों और उनके दोस्तों को भी होती है दो घरों में एक ही दिन और एक समय पर शगुन के पल आने वाले होते हैं दूल्हा और दुल्हन के मन में खुशी के साथ-साथ थोड़ी सी घबराहट भी होती है।

ज्यादातर मामलों में रिश्ते का लक्ष्य दूसरे व्यक्ति के साथ प्यार ढूंढना और इसे यथासंभव लंबे समय तक रखना है। जब हम life में उस व्यक्ति से मिलते हैं जिससे हमें लगता की हम दोनो एक हैं तो अगला कदम उन्हें Perpose करना, उनसे शादी करना और फिर हमेशा के लिए खुशी से रहने का होता है। आखिर सही रिश्ता तो वह होता है जिसमें सिर्फ एक सुखद अंत हो और कोई संघर्ष या दुख ना हो, है ना?

जो लोग हानिकारक गलतफहमी को मानते हुए एक रिश्ते में प्रवेश करते हैं वह अक्सर Surprised हो जाते हैं जब वह अपने साथी के साथ पहली Problem का सामना करते हैं और इसे संभालने में असमर्थ होते हैं। कई बार यह आशंकाएं Divorce का कारण भी बन जाती है।

ऐसे में यदि शादी से पहले किसी अच्छे Wedding Counselor से अपनी Premarital counselling करवा ली जाए तो बेहतर होता है। इस पोस्ट के जरिए आज हम जानेंगे की Premarital counselling Benefits क्या हैं लेकिन उससे पहले जान लेते हैं की Pre Wedding Counselor कौन होता है।

Pre-Wedding Counselor कौन होता है ?

एक अच्छे प्री वेडिंग काउंसलर के पास शादी से पहले लड़का और लड़की को समझने का और समझाने का बेहतर हुनर होता है। काउंसलर शादी से पहले लड़का और लड़के की आपसी सोच और समझ का विश्लेषण करता है।

एक काउंसलर काउंसलिंग के दौरान आपकी पसंद नापसंद की तुलना आपके पार्टनर की पसंद ना पसंद से करेगा कुछ पसंद और नापसंद रिश्ते में बाद में बड़ी समस्या पैदा कर सकते हैं। आपके partner की Background पर भी चर्चा की जा सकती है हो सकता है कि Partner किसी खास तरह के व्यक्ति की तलाश कर रहा हो जिसकी background खास हो। 

Counselor अपने अनुभव और विशेषज्ञता के आधार पर सलाह देते हैं वे हर उस संभावित स्थिति को समझने का प्रयास करते हैं जो शादीशुदा जिंदगी के लिए परेशानी बन सकती है।

सामान्य तौर पर प्री वेडिंग काउंसलिंग आपको इन सभी संबंधित विषयों का एक व्यापक अवलोकन (Comprehensive Overview) प्रदान करने में मदद करता है और आपको इस प्रकार की जीवन स्थितियों के माध्यम से Navigate करने में मदद करने के लिए उपकरण और संसाधन प्रदान करेगा

 Premarital counselling आपको उन कुछ मौजूदा Problems पर ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकता है जिनका आप अभी सामना कर रहे हैं और यह बाद में कैसे बड़ी समस्या बन सकती हैं जब आपकी सगाई हो जाती है और आपकी प्रेमी या प्रेमिका से शादी हो जाती है।

कुछ Counselor विशिष्ट क्षेत्रों में विशेषज्ञ होंगे और इन क्षेत्रों को भविष्य में आपके लिए समस्या बनने से रोकने के लिए इन क्षेत्रों को लक्षित करने में आपकी सहायता करेंगे। एक और बात जो आपके लिए जानना जरूरी है कि किसी भी wedding Counselor को चुनने से पहले आपको उसके बारे में पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। तो चलिए अब जानते हैं Premarital counselling Benefits के बारे में।

Benefits Of Pre-Marital counselling

अगर आपने और आपके साथी ने तय किया है कि Pre-wedding counselling आपके लिए सही है तो Congrats.  हालांकि प्रश्न आमतौर पर वहां समाप्त नहीं होते हैं। कई जोड़े जानना चाहते हैं कि यह निर्णय लेने के बाद उन्हें क्या उम्मीद करनी चाहिए और Premarital counselling करवा भी लें तो उसका फायदा क्या होगा।

यदि आप Wedding Counselor के साथ Appointment बुक करने में संकोच कर रहे हैं क्योंकि आप अभी भी Sure नहीं है कि हम काउंसलिंग क्यों करवाए तो यहां जोड़ों के लिए Pre-wedding counselling Benefits बताए गए हैं उम्मीद है की यह आपके दिमाग को बदल देंगे।

benefits of premarital counselling in hindi

जरूरी है पार्टनर को समझना - It Is Important To Understand The Partner

लड़का हो या लड़की एक दूसरे के परिवार के साथ देर-सवेर घुल मिल ही जाते हैं परंतु अपने Partner को सही ढंग से समझना बेहद जरूरी होता है क्योंकि दोनों ने जीवन भर एक दूसरे के साथ निभाना होता है जब शादी के बाद पति-पत्नी एक-दूसरे के साथ खुश हो तो फिर किसी और चीज की जरूरत ही नहीं रहती है।

Pre-Wedding counselling हमें अपने साथी के व्यक्तित्व और आदतों में गहराई से गोता लगाने में मदद करके इस अवधारणा (concept) को बेहतर ढंग से तलाशने में मदद करता है ताकि हम इस बारे में अधिक जान सके कि जिससे हम शादी कर रहे हैं वह कौन है और हम उसके साथ कितना खुश रह सकते हैं।

  • क्या आप अपने साथी को उसकी सभी खामियों  के लिए स्वीकार करने में सक्षम है।
  • क्या आपको उनके कुछ काम करने में मजा आता है।
  • क्या आप उस व्यक्ति के साथ शांति से रह पाएंगे और अपनी सगाई और शादी के बाद भी उस प्यार को बनाए रख पाएंगे।

Premarital counselling से आपको अपने वर्तमान संबंधों (Current Relations) की सच्ची गहराई का पता लगेगा और यह आपके लिए अलग अलग तरीके से जानने के लिए Better Option होगा। जब तक की आप नहीं पाते कि कोई ऐसा व्यक्ति जिसके साथ आप वास्तव में रहना चाहते है और जिसके साथ आप एक मजबूत बंधन बनाना चाहते हैं।

शादी करने के कारण पता लगाना - Find Out The Reason For Getting Married

Premarital counselling के दौरान काउंसलर आपसे यह पूछ सकता है कि 'आप दोनों ने शादी करने का फैसला क्यों किया'

शायद यह सवाल आपको अजीब लगे और आपका जवाब होगा कि 'हम एक दूसरे से प्यार करते हैं इसलिए शादी कर रहे हैं' तो यह अच्छा है कि आप counselling जरूर करवाएं। प्यार में होना बहुत अच्छा है लेकिन आपको जीवन भर साथ निभाने के लिए प्यार से कहीं अधिक की आवश्यकता होगी।

एक Wedding Counselor आपके भविष्य की और देखने के साथ-साथ आपसे बहुत से प्रश्न पूछ सकता है जैसे -
  • आप बच्चे चाहते ही या नहीं, और यदि हां तो कब
  • क्या आप फाइनेंशियली अच्छे हैं 
  • उच्च सेक्स ड्राइव किसके पास है।
  • आपकी एक दूसरे के माता पिता और फैमिली के लिए क्या सोच है, उनसे संबध अच्छे बन सकते हैं या नहीं
  • घर का काम कौन करेगा।
  • आप एक दूसरे से क्या उम्मीद करते हैं।

प्रीमैरिटल काउंसलिंग में ऐसे बहुत से सवालों का ब्यौरा तैयार होता है और एक दूसरे की सोच और समझ से मिलाया जाता है ताकि शादी के बाद होने वाली समस्याओं को पहले से ही हल किया जा सके।

कम हो सकते हैं तलाक - Divorce Can Be Reduced

ऐसे जोड़े जिनके पास गंभीर रिश्तो (Serious Relationships) का बहुत ज्यादा Experience नहीं है या जिन्होंने अपने Current Relations में समस्याओं का सामना नहीं किया है अक्सर यह नहीं जानते कि शादी में समस्या आने पर क्या करना चाहिए।

अब वह समय नहीं रहा जब शादी के बाद रिश्तो को किसी भी कीमत पर निभाया ही जाता था भले ही कैसी भी परिस्थिति क्यों ना हो अब भले ही इसे आप कोई मजबूरी कहें, परिवार का दबाव या फिर समाज की झिझक।

यह Life का एक Unfortunate Fact है कि कई लोग किसी रिश्ते को बनाए रखने और संघर्षों को कैसे हल करें यह जाने बिना किसी अन्य व्यक्ति से शादी कर लेते हैं। जिसके कारण समस्याएं उत्पन्न होती है और एक समस्या दूसरी समस्या को जन्म दे सकती है जिससे समस्याओं की एक श्रृंखला (Chain) बन जाती है और समय के साथ स्थिति और खराब होती जाती है।

इन बड़ी समस्याओं का सामना करते हुए और इन समस्याओं से निपटने के लिए ज्ञान की कमी के कारण लोग सबसे सरल तरीके की तलाश करते हैं जो उन्हें उनकी समस्या का समाधान प्रदान करता और वह है तलाक (Divorce)। 

यदि आप भी चाहते हैं कि रिश्ते आपके लिए बोझ ना बन जाए तो आपको Pre Marital counselling लेनी ही चाहिए इससे आपको Relations को बेहतर बनाने के लिए एक विचार एक दृष्टिकोण मिलेगा जो आपके रिश्ते में निखार लाएगा।

Wedding Counselor जानते हैं कि तलाक एक Effective Solution नहीं है और दोनों साथी उचित मार्गदर्शन और रणनीति के साथ संबंध बनाए रखने के लिए काम कर सकते हैं यही कारण है कि काउंसलर एक विकल्प के रूप में तलाक की संभावना को कम कर देते हैं।

अच्छे संचार को बढ़ावा देना -Promote Good Communication

शादी पर विचार करने वाले कई जोड़ों की पहले कभी शादी नहीं हुई है और यह नहीं जानते कि एक दूसरे से क्या उम्मीद की जाए। शादी के कई आवश्यक तत्व विशेष रुप से संचार (Communication) यानी की बात करने का तरीका, रिश्ते में शामिल दोनों पक्षों के लिए एक अलग भाषा की तरह लग सकते हैं।

संचार और विश्वास एक सफल रिश्ते की नींव है संचार के बिना एक रिश्ते, विशेष रूप से एक विवाह के बचने की संभावना बहुत कम होती है।

कई रिश्तो में संचार समस्या ग्रस्त है। शादी करने से पहले स्वस्थ और सकारात्मक तरीके से एक दूसरे के साथ बातचीत करना सीखना मददगार हो सकता है।

Pre Marital counselling में काउंसलर आपको सिखा सकते हैं कि आप अपने Communication Skill को कैसे सुधारें और Daily Life में उनका Practice करने में आपकी सहायता कर सकते हैं। इस तरह जब हम अपने साथी से असहमत होते हैं तो हम जानेंगे कि बिना उसे चोट पहुंचाए स्थिति से प्रभावी ढंग से कैसे निपटा जाए ताकि शादी के बाद आपके प्यार भरे रिश्ते में तकरार ना आए।

पैसे की समस्या - Financial Problem

कहा जाता है कि शादी के बाद Couples के बीच तनाव और समस्या के मुख्य कारणों में से एक पैसा है। इसलिए शादी करने से पहले अपने Financial Plan बनाना बहुत बुद्धिमानी है।

संचार की कमी और बेवफाई के अलावा फाइनेंशियल प्रॉब्लम तलाक का एक सामान्य कारक है एक counselling में शादी के बजट और भविष्य की योजना पर चर्चा की जा सकती है।

काउंसलिंग से जोड़ों को यह देखने में मदद मिलती है कि वह 1 महीने में कितना पैसा कमा रहे हैं और जब रहने और खाने के खर्च की बात आती है तो वे कितना खर्च कर सकते हैं। प्री वेडिंग काउंसलिंग में आपको अपने साथी के साथ चर्चा करने के लिए कई चीजें होंगी जैसे 
  • अपने बिलों को कैसे विभाजित करें
  • मासिक यां वार्षिक आधार पर कितनी बचत करें
  • कौन काम करेगा और कितना आदि

अगर आप अपने साथी के साथ पैसे के बारे में बात करने में चिंतित महसूस करते हैं तो आपको एक Wedding Counselor की आवश्यकत जरूर है। कई Couples शादी के बाद पैसे के बारे में नहीं सोचते हैं। Pre-Marital Counselor का एक मुख्य उद्देश्य Coupels को Personal Monetary Mindset, Long Term Financial Goal और खर्च करने की आदतों पर चर्चा करने में मदद करना भी है।

गलतफहमियां होती हैं दूर - Misunderstandings Were Solved

Pre wedding counselling में आपके मन में आपके पार्टनर के प्रति जो भी समस्या या गलतफहमी है जो आप Directly अपने पार्टनर से नहीं पूछ सकते तो उस गलतफहमी के ऊपर बात की जाती है। आप अपने रहने की जगह अपना समय और लगभग कुछ भी जो आप अपने महत्वपूर्ण दूसरे के साथ सोच सकते हैं सांझा कर सकते हैं।

आप कुछ संभावित असहज विषयों (potentially uncomfortable topics) पर चर्चा करने के लिए प्रीमैरिटल काउंसलर का भी उपयोग कर सकते हैं Pre Marital counselling Benefits में से संभावित वैवाहिक समस्याओं (potential marital problems) को उजागर करना और उन पर चर्चा करना शामिल है जो बाद में विवाह में नाराजगी को दूर कर सकते हैं।

काउंसलिंग के दौरान आप शादी के रिश्ते को लेकर अपनी जिज्ञासा और प्रश्नों को पूछ सकते हैं। साथ ही विशेष परिस्थितियों में आपको किस तरह से अपने रिश्ते को संभालना है यह भी आप दोनों जान सकते हैं। इस दौरान सलाहकार के सामने आपको अपने मन की सारी उलझनों को बिना हिचकिचाहट सामने रखना चाहिए क्योंकि यदि बात दिल में रह गई तो उसका कभी भी सुलझ पाना संभव नहीं होता।

प्री वेडिंग काउंसलिंग आपको अपने सभी प्रश्नों के उत्तर खोजने का अवसर और सुरक्षित स्थान देता है जो रिश्ते में अनुकूलता के लिए महत्वपूर्ण है।

खुशहाल जीवन के लिए जरूरी - Essential For a Happy Life

यदि हम बात करें Arrange Marriage की तो इसमें लड़का लड़की एक दूसरे को न के बराबर ही जानते हैं बल्कि वे एक दूसरे को सही ढंग से शादी के बाद ही जान पाते हैं दूसरी तरफ Love Marriage में दोनों पार्टनर से दूसरे को पहले से जानते और समझते होते हैं परंतु समस्या दोनों तरह के शादी में ही देखने को आती।

कई जोड़े सोचते हैं कि शादी मजेदार और आनंदमई वाली होती है और कभी-कभी ऐसा होता भी है, लेकिन हमेशा नहीं। Pre Wedding counselling जोड़ों  को यह समझने में मदद करता है कि शादी के बाद दोनो में तर्क और असहमति (Arguments and Disagreements) होगी और इन मामलों के होने पर उनसे कैसे निपटें। इसीलिए खुशहाल जीवन के लिए आपको शादी से पहले काउंसलिंग जरूर करवानी चाहिए।

Pre wedding counsling के संबध में कुछ प्रश्न -Few Questions Regarding Pre Marital counselling.

जो लोग शादी से पहले अपनी काउंसलिंग करवाना चाहते हैं उनके मन में प्री वेडिंग काउंसलिंग के बारे में बहुत सवाल होते हैं। उन सवालों में से कुछ सवालों के जवाब की लिस्ट हमने तैयार की है।

यह बिल्कुल भी जरूरी नहीं कि आप किसी प्रोफेशनल काउंसलर की सलाह लें बल्कि आप किसी अपने से भी सलाह ले सकते हैं जिनकी मैरिड लाइफ एक खूबसूरत मिसाल बन कर दूसरों को प्रेरणा दे रही हो। वह आपको इस रिश्ते की अहमियत बहुत अच्छे से समझा सकते हैं यह भी संभव है कि इस तरह के अटूट बंधन को देखकर आप भी प्रेरित हो। तो चलिए कुछ प्रश्नों को देखते हैं।

Pre Wedding Counsling कब शुरू करें ?

जो लोग अभी Dating कर रहे हैं और सगाई के बारे में सोच रहे हैं यां बात आगे बढ़ाने के लिए परिवार से बात करने वाले हैं तो आपको अपनी संतुष्टि (Setisfaction) के लिए इन सब चीजों से पहले counselling करवा लेनी चाहिए। इसके लिए आपको अपने रिलेशन में संघर्ष करने या रिलेशन की कठिनाइयों का सामना करने की आवश्यकता नहीं है।

काउंसलिंग के लिए भावी पति और पत्नी को अकेले जाना होता है इसमें परिवार के किसी अन्य सदस्य को साथ आने की अनुमति नहीं होती है। शादी के बाद रिश्तो की मूल बातें सीखने के लिए बहुत से लोग PreMarital counselling में भाग लेते हैं।

Pre Marital Counsling की तैयारी कैसे करूं - How To Prepare For PreMarital counselling?

प्रीमैरिटल काउंसलिंग की तैयारी के लिए अपने रिलेशन के बारे में उन सवालों की एक सूची बनाए जिनके बारे में आप अपने साथी से बात करना पसंद करते हैं।

यदि आपके और आपके साथी के बीच संबंध संबंधी समस्या या चिंताएं हैं तो एक लाइसेंस प्राप्त Counselor के साथ इन मुद्दों को हल करने के लिए PreMarital counselling सबसे अच्छी सलाह है। Relation Therapist जोड़ों को उनकी समस्याओं को सुलझाने में मदद करने के लिए दोनो में मध्यस्थ (Mediator) के रूप का कार्य करते हैं। सकारात्मक दृष्टिकोण और खुले दिमाग के साथ अपने Pre Marital counselling में शामिल होने की तैयारी करें।

क्या Pre Wedding Counsling काम करती है।

मनोविज्ञान विशेषज्ञ और शोधकर्ताओं ने काउंसलिंग प्राप्त करने वाले लोगों के संबंधों में 70% तक सुधार की सूचना दी है। Premarital counselling, Couple counselling और विवाह चिकित्सा प्राप्त करने से संघर्षरत जोड़ों को यह सीखने में मदद मिलती है कि रिश्ते मुश्किल होने पर अलगाव या तलाक की बजाए इसके अन्य विकल्प उपलब्ध है।

डेटिंग और विवाहित जोड़ों की सब कई समस्याओं को तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप से हल किया जा सकता है जो जोड़ों को एक दूसरे की एक नई  समझ हासिल करने में मदद करता है कुछ जोड़ें जो विवाह पूर्व परामर्श प्राप्त करते हैं वह अंतर्निहित मानसिक स्वास्थ्य मुद्दों (Underlying Mental Health Issues) की खोज करते हैं जो इन मुद्दों का इलाज न करने पर रिश्ते के पतन में योगदान दे सकते थे।

जब Couples शादी से पहले काउंसलिंग करवाते हैं तो लाइसेंस प्राप्त काउंसलर मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों से पीड़ित लोगों के लिए पेशेवर सलाह और संसाधन प्रदान कर सकते हैं जो उनके रिश्तो को सुधारने में सहायता करते हैं।

क्या अविवाहित लोग भी counselling करवा सकते हैं?

हां बिल्कुल करवा सकते हैं यदि कोई समस्या है जो आपको लगता हो की विवाह के भीतर समस्या ग्रस्त हो सकती है तो सलाह मांग कर उसे solve करना एक अच्छा विचार है सगाई से पहले काउंसलिंग सभी उन लोगों के लिए डिजाइन किए गए हैं जिनकी अभी तक शादी नहीं हुई वह एक अच्छी शादी के लिए आधारशिला है। 

Pre wedding counselling के लिए शादी के बाद भी जा सकते हैं। जिन पति पत्नियों के रिश्ते में तकरार है वे भी अपनी काउंसलिंग करवाने के लिए सक्षम हैं ताकि आने वाली जिंदगी में समस्याएं कम हो सकें।